CHINTAN JAROORI HAI

जीवन का संगीत

166 Posts

978 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 14778 postid : 636808

बीबी के खर्चों ने हाय इस कदर मार डाला (हास्य कविता )

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बीबी के खर्चों ने हाय
इस कदर मार डाला
दीवाली से ही पहले मेरा
निकल गया दिवाला
ब्यूटी पार्लर का ये कैसा चर्चा है
अनायास ही ये कैसा खर्चा है
सुंदरता सूरत में नहीं
सीरत में होती है
तू व्यर्थ ही इसकी खातिर क्यों रोती है
पत्नी बोली क्यों बेकार कि हांकते हो
तभी तो दूसरों कि बीबी को ताकते हो
सगाई के दिन मै तुम्हे
चंद्रमुखी नजर आयी थी
भाई कि पूरी कमाई
पार्लर में लगाई थी
और तुम भी तो बड़े हैंडसम नजर आये थे
जानती हु में उसी दिन बाल रंगाये थे
कहे देती हुँ इस बार साड़ी दिलवाओगे
नहीं तो रात का भोजन बहार ही खाओगे
अबकी सुनार कि दुकान में
एक हार पसंद आया है
कल ही शर्मा जी ने
अपनी बीबी को दिलवाया है
मै बोला तेरे तो बड़े भाग हैं
तेरा आभूषण तो तेरा सुहाग है
वो बोली मैं तो यूं ही मर जाऊंगी
पति को गले में कैसे लटकाऊँगी
अच्छा ये सब ठीक है
आज रात मेरे बॉस आएंगे
परिवार सहित खाना यहीं पर खायेंगे
वो बोली ये सब कैसे कर पाओगे
घर की माली हालत कैसे छिपाओगे
मै बोला इसका मैंने इंतजाम किया है
आज ही प्याज कि गंध वाला
एक महंगा इत्र लिया है
कल हमारे घर में
प्याज की ही गंध आएगी
हमारी ये समृद्धि देख
बॉस की बीबी भी जल जायेगी



Tags:         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

8 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

harirawat के द्वारा
November 1, 2013

वह क्या खूब असलियत को धरातल पर उतार दिया है आपने दीपक जी, बधाई और दीपावली कि शुिभकामनाएं !

    deepakbijnory के द्वारा
    November 1, 2013

    dhanyawad aadarniya rawat ji apko bhi diwali ki shubhkamnayen

PAPI HARISHCHANDRA के द्वारा
November 1, 2013

दीपक जी अच्छी नोक झोंक ,अच्छा ब्यंग ,,समय की मांग है ,,,ओम शांति शांति शांति ..

    deepakbijnory के द्वारा
    November 1, 2013

    dhanyawad aadarniya harishchandra ji blog me aane sujhav dene aur kavita par manthan hetu

October 31, 2013

अच्छा उपाय आप की कविता पढ़ बहुत से समझ पाएं .

    deepakbijnory के द्वारा
    November 1, 2013

    dhanyawad shaliniji kavita ko poora padne tatha us par manthan karne ke liye

    deepakbijnory के द्वारा
    October 31, 2013

    dhanyawad munish ji blog me aane ke liye


topic of the week



latest from jagran