CHINTAN JAROORI HAI

जीवन का संगीत

166 Posts

978 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 14778 postid : 801543

परदे में होता है सभी कुछ ,प्यार भी इक़रार भी बाजार में इसको दिखाना ,अच्छा नहीं लगता

Posted On: 9 Nov, 2014 Others,कविता,Junction Forum में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

परदे में होता है सभी कुछ ,प्यार भी इक़रार भी
बाजार में इसको दिखाना ,अच्छा नहीं लगता
…………………………………………………

जिस्म को ढकने की खातिर ,पहरावों को किया था इज़ाद
झाँकने लगे जिस्म वो वस्त्र पहनाना, अच्छा नहीं लगता
……………………………………………………………….

मंदिरों के द्वार पर, देख भूखों के कतार
करोड़ों का वो भोग लगाना ,अच्छा नहीं लगता
…………………………………………………….

क्या विज्ञापन, क्या गाने, फिल्मे, परोसते अश्लीलता
साथ बच्चों को टी वी दिखाना, अच्छा नहीं लगता
……………………………………………….

शहीद होते हैं जंग में तो, कटते भी हैं सर वहाँ
कटे सिरों को हाथों में नचाना, अच्छा नहीं लगता
………………………………………………………

मान दिया ओहदा दिया, इस मुल्क ने तुमको मगर
दुश्मन को घर में यूं बुलाना, अच्छा नहीं लगता
………………………………………………………

चौखट पे जिसके सर्द से, मर गया वो रात में
उस दर पे चादर का चढ़ाना, अच्छा नहीं लगता
………………………………………………..

दीपक पाण्डेय
नैनीताल



Tags:       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

6 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Nirmala Singh Gaur के द्वारा
December 12, 2014

किस एक पंक्ति की तारीफ़ करूं,——सरोजनी नायडू ने कहा था ,सच्ची कविता दर्पण होती है समाज की मनस्थिति का ,——रोज़ मर्रा की बातो का उल्लेख करके आपकी इस रचना ने बहुत लोगों के मन की बात कही है ,भावनाओं को शब्दों में हरेक नहीं पिरो सकता ,बहुत उत्कृष्ट रचना ,सादर

    deepak pande के द्वारा
    March 2, 2015

    dhanyawaad aadarniya nirmala didi

एल.एस. बिष्ट् के द्वारा
November 13, 2014

शहीद होते हैं जंग में तो, कटते भी हैं सर वहाँ कटे सिरों को हाथों में नचाना, अच्छा नहीं लगता…………..दीपक पांडेय जी मन खुश हो गया आपकी रचनाओं को पढ कर । सच कहूं तो कमाल का सृजन किया है आपने । आपकी सोच, नजरिया व कहने का अंदाज काबिले तारिफ है । आप ऐसा ही लिखते रहे , मेरी शुभकामनाएं ।

    deepak pande के द्वारा
    November 13, 2014

    Dhanyawaad aadarniya bist jee apkee tippani mere liye prerna ka srot hai aasha karta hoon yoonhi apka aashirwaad bana tahega sadar naman

DR. SHIKHA KAUSHIK के द्वारा
November 11, 2014

bahut khoob .badhai

    deepak pande के द्वारा
    November 11, 2014

    dhanyawaad aadarniya shikha jee


topic of the week



latest from jagran